Screen Reader Access Skip to Main Content Font Size   Increase Font size Normal Font Decrease Font size
Indian Railway main logo
National Emblem of India
खोज :
View Content in English

हमारे बारे में

परियोजनायें

भौगोलिक स्थान

निविदाएं

सामान्य जानकारी

सूचना का अधिकार

मु.प्र.अधि.की मेज से



 
Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS

  1. हमारे बारे में:

कारखाना परियोजना संगठन (का.प.सं.), जिसकी स्थापना अक्टूबर २००२ में हुई थी, पर भारतीय रेलवे की उत्पादन इकाइयों और कारखानाओं की टर्नकी आधारीत स्थापना की ज़िम्मेदारी है। यह संगठन रेलवे बोर्ड (अति. सदस्य/उ.ई.) को रिपोर्ट करता है। इस संगठन में यांन्त्रिक, सिविल इंजीनियरिंग, स्टोर, वित्त, विद्युत, एस एंड टी, मेडिकल और कार्मिक विभाग से अधिकारी और कर्मचारी शामिल हैं और इसका नेतृत्व मुख्य प्रशासनिक अधिकारी (मु.प्र.अधि.) करते हैं। इसका मुख्यालय पटना में है।

इसलिए, इस संगठन में यांन्त्रिक, सिविल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल और एस एंड टी कार्य सहित समग्र परियोजनाओं के लिए पूर्ण समाधान देने की ताकत और क्षमता है।

  1. पूर्ण परियोजनाएं:

का.प.सं. अब तक निम्नांकित परियोजनाओं को सफलतापूर्वक पूरा कर चुका है:

क्र. सं.

उ../कारखाना का नाम

अनुमानित लागत (करोड रु. में)

(१)

रेल पहिया कारखाना (रे.प.का.), बेला, छपरा (बिहार)

१६३९.५०

(२)

सवारिडिब्बा मरम्मत कारखाना (स.म.का.), हरनौत (बिहार)

३२८.३७


 

  1. चालू परियोजनाएं: का.प.सं. वर्तमान में निम्नलिखित परियोजनाओं को निष्पादित कर रहा है:

क्र. सं.

परियोजना

रेलवे

क्षमता

स्वीकृत लागत (₹ करोड़)

(१)

बडनेरा- मालिडिब्बा मरम्मत आविधक ओवरहालिंग कारखाने की स्थापना

मध्य रेलवे

१८० मालिडिब्बा आविधक ओवरहालिंग / माह

२९९.३७

(२)

कुर्नूल - सवारिडिब्बा मध्यावधि पनुर्वसन कारखाने हेतु सुविधाओं की स्थापना

दक्षिण मध्य रेलवे

२५० सवारिडिब्बा / वर्ष

५६०.७२

(३)

भागलपुर - एलएचबी सवारिडिब्बों के लिए कोचिंग अवसंरचनात्मक सुविधाएं

पूर्व रेलवे

--

४५.३४

(४)

माटुंगा - बोगी आविधक ओवरहालिंग क्षमता के ३५० से ५७५ बोगी प्रति माह तक संवर्धन हेतु सुविधाएं और अन्य संबद्ध् कार्य

मध्य रेलवे

५७५ बोगी / माह

५९.२७

(५)

हरनौत (गाड़ी मरम्मत कारखाना)- एलएचबी कोच के लिए पीओएच व्हील सेट हेतु अवसंरचना का विकास

पूर्व मध्य रेलवे

--

२७.७७

(६)

हरनौत - एलएचबी और आईसीएफ बोगियों के आईओएच के लिए सुविधा का निर्माण

पूर्व मध्य रेलवे

--

११.७६

(७)

गोरखपुर - २० कोच प्रति माह हेतु एलएचबी कोच के अनुरक्षण की आविधक ओवरहालिंग सुविधाएं

उत्तर पूर्व रेलवे

२० सवारिडिब्बा / माह

३५.४०

(८)

तिरुपति - एलएचबी सवारिडिब्बा की आविधक ओवरहालिंग सुविधाओं का उन्नयन

दक्षिण मध्य रेलवे

--

४३.४५

  1. नई परियोजनाएं: निम्नलिखित नई परियोजनाओं को डब्ल्यूपीओ को निष्पादन के लिए आवंटित किया गया है:

क्र. सं.

परियोजना

रेलवे

स्वीकृत / प्रस्तावित लागत (₹ करोड़)

१.

हजारीबाग नगर – कोच अनुरक्षण डिपो (चरण-१) का प्रावधान (अनु.अति.मांग २०१८-१९ मद सं.२/फरवरी २०१९)

पूर्व मध्य रेलवे

४०.८६

२.

माल ढुलाई रखरखाव के लिए एमजीएस का यार्ड और वैगन केयर सेंटर के आधारिक संरचना का उन्नयन

पूर्व मध्य रेलवे

१७.३४

३.

दानापुर में समाडि के लिए स्टोर डिपो का निर्माण

पूर्व मध्य रेलवे

३.८०

४.

खड़गपुर वर्कशॉप - एलएचबी कोचों के लिए पीओएच क्षमता का विस्तार

दक्षिण पूर्व रेलवे

३५.३९

५.

बंडामुंडा - डिटैचमेंट मुक्त रेक परीक्षा सुविधाएं

दक्षिण पूर्व रेलवे

४८.८६

६.

भुसावल में मेमू रेक के लिए परीक्षा और रखरखाव सुविधाओं की स्थापना

मध्य रेलवे

१५०.४०

७.

बाघुआपाल - सीसी परीक्षा सुविधाओं का निर्माण

पूर्व तट रेलवे

६२.०४

८.

प्रताप नगर कारखाना का विस्तार (चरण -२)

पश्चिम रेलवे

४४.९९

९.

धनबाद: एलएचबी कोच रखरखाव के लिए धनबाद कोचिंग सीक लाइन का उन्नयन

पूर्व मध्य रेलवे

१३.२२

१०.

हरनौत : एल.एच.बी. (ए.सी. & नन ए.सी.) के पी.ओ.एच. के लिए रखरखाव के बुनियादी ढांचे की स्थापना

पूर्व मध्य रेलवे

१२.४६

११.

आर.एन.सी.सी. और डी.एन.आर डिपो में वाशिंग पिट और सीक लाइन शेड में ३ फेज ७५० वोल्ट बिजली की आपूर्ति का प्रावधान

पूर्व मध्य रेलवे

४.१०

१२.

जगाधरी : एल.एच.बी. कोच पी.ओ.एच. वर्धन और वैगन बोगी शॉप

उत्तर रेलवे

१८.०५

१३.

बाघुआपाल - बीजीपीएल में आरओएच शेड का निर्माण

पूर्व तट रेलवे

५१.८०

१४.

अनारा - द.पू.रे. (चरण-१) में मेमू, डेमू और अन्य कोचिंग स्टॉक के एकीकृत रखरखाव के लिए बुनियादी ढांचे का विकास

दक्षिण पूर्व रेलवे

४८.८२

१५.

सी.आर.डब्ल्यू., भोपाल में एलएचबी कोचों के पीओएच के लिए सुविधाओं का विस्तार (चरण- १)

पश्चिम मध्य रेलवे

३५.२३

१६.

खड़गपुर वर्कशॉप में एलएचबी कोचों के लिए पीओएच क्षमता का विस्तार (चरण- २)

दक्षिण पूर्व रेलवे

३९.२४

१७.

आर.ओ.एच. क्षमता का विस्तार और मौजूदा रखरखाव सुविधाओं और आर.ओ.एच. डिपो (बी.एस.एल.) के बुनियादी ढांचे में सुधार

मध्य रेलवे

१९.७६

१८.

एल.एच.बी. कोचों की पी.ओ.एच. क्षमता में वृद्धि के लिए सडिमका/मंचेश्वर में पुराने बुनियादी ढांचे में सुधार, वृद्धि और प्रतिस्थापन

पूर्व तट रेलवे

३१.५३

१९.

एनबीक्यू वर्कशॉप में डेमू / मेमू के पीओएच के लिए सुविधाएं

उत्तर पूर्व सीमांत रेलवे

२२.८१

२०.

डी.एन.आर. - राजगीर कोचिंग डिपो का उन्नयन

पूर्व मध्य रेलवे

४.७९

२१.

हरनौत - समडिका/हरनौत में ट्रेन प्रकाश व्यवस्था शाप, बायो टॉयलेट शेड, एस.एस.ई. के कार्यालय, पेट्टी  स्टोर और एम एन्ड पी रखरखाव शेड का निर्माण

पूर्व मध्य रेलवे

५.९९

२२.

दानापुर - दानापुर डिपो का बुनियादी ढांचा विकास

पूर्व मध्य रेलवे

५.८०

२३.

कोलार- समेकित मरम्मत कारखाने की स्थापना

दक्षिण पश्चिम रेलवे

४९५.३०

२४.

सहरसा - CAMTECH डिजाइन के अनुसार दूसरा वाशिंग पिट का निर्माण

पूर्व मध्य रेलवे

१२.३६

५.

धनबाद - कोच अनुरक्षण के लिए केएलकेइ छोड़/पू..रे. की ओर पिट नंबर ४ में ६० मीटर, पिट नंबर में ३० मीटर और पिट नंबर २  में ५० मीटर का विस्तार       

पूर्व मध्य रेलवे

२.९४

६.

हरनौत – 20 मी. X40 मी. आकार के स्टोर डिपार्टमेंट के लिए नया स्टॉकिंग वार्ड

पूर्व मध्य रेलवे

२.३५

७.

हरनौत - पिट लाइन के साथ 50 मी. X15 मी. आउटगोइंग शॉप का विस्तार 

पूर्व मध्य रेलवे

२.३२

८.

हरनौत - 15mX25m आकार का एलएचबी जेनरेटर कार शेड 

पूर्व मध्य रेलवे

२.२६

९.

डीडीयू - दो अतिरिक्त क्रेन के साथ 25 टन और 50 टन बे का विस्तार और सुरक्षा जाँच की सुविधा के लिए डीजल शेड/टीआरएस में एक  पिट

पूर्व मध्य रेलवे

२.४७

०.

हरनौत - समडिका/हरनौत में बोगी फ्रेम के लिए ग्रिट/शॉट ब्लास्टिंग प्लांट का प्रस्ताव

पूर्व मध्य रेलवे

२.४९



 




Source : ??????? ???????? ?????, ???? CMS Team Last Reviewed on: 09-09-2020  


  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.